पढ़ें देश भर की ताज़ा ख़बरें
पहली बार दिल्ली में पेट्रोल की कीमत बड़ी पहली बार दिल्ली में बड़ी पेट्रोल की कीमत,75 के पार पहुंची डीजल भी 21पैसे हुआ मंहगा:
Wednesday, 16 May 2018 04:34 am
 पढ़ें देश भर की ताज़ा ख़बरें

पढ़ें देश भर की ताज़ा ख़बरें

कांग्रेस पर महंगाई का आरोप लगाकर और देश से महंगाई कम करने का वादा करके सत्ता में आई मोदी सरकार भी पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने में असफल साबित हुई है.

Petrol-Diesel Prices Raised For Second Day After Karnataka Elections

 

नई दिल्ली: देश की आम जनता पर लगातार महंगाई की मार पड़ रही है. लेकिन जनता इससे बेखबर है. राजधानी दिल्ली में पहली बार पेट्रोल की कीमत 75 रुपए के पार पहुंच गई है. पेट्रोल 15 पैसे और महंगा हो गया है. वहीं, डीजल भी 21 पैसे मंहगा हुआ है. दिल्ली में अब डीजल की कीमत 66 रुपए 57 पैसे प्रति लीटर पहुंच गई है. कर्नाटक चुनाव के बाद से पेट्रोल की कीमत प्रति लीटर 47 पैसे बढ़ चुकी है.
कहां कितने रुपए प्रति लीटर मिल रहा है पेट्रोल?
देश के चार बड़े शहरों में पेट्रोल की कीमत आसमान छू रही है. राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 75 रुपए 10 पैसे मिल रहा है तो कोलकाता में 77 रुपए 79 पैसे, आर्थिक राजधानी मुंबई में 82 रुपए 94 पैसे और चेन्नई में 77 रुपए 93 पैसे प्रति लीटर मिल रहा है.

कहां कितने रुपए प्रति लीटर मिल रहा है डीजल?
डीजल में भी आज 21 पैसे की बढ़ोतरी हुई है. कर्नाटक चुनाव के बाद 64 पैसे की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. राजधानी दिल्ली में डीजल 66 रुपए 57 पैसे मिल रहा है तो कोलकाता में 69 रुपए 11 पैसे, आर्थिक राजधानी मुंबई में 70 रुपए 88 पैसे और चेन्नई में 70 रुपए  25 पैसे प्रति लीटर मिल रहा है.
केंद्र सरकार फिलहाल पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में कमी के पक्ष में नहीं है. पेट्रोलियम मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ते कच्चे तेल के दामों के मद्देनजर पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कटौती की मांग की थी, लेकिन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक फरवरी को बजट में उसकी इस मांग को नजरअंदाज कर दिया था.
लगातार बढ़ते जा रहे हैं डीजल-पेट्रोल के दाम
दरअसल पिछले साल जून से रोजाना डीजल और पेट्रोल के दाम तय होते हैं. ऐसे में जनता को इस बात की भनक भी नहीं लगती कि रोजाना  पांच-पांच, दस-दस पैसे बढ़कर डीजल और पेट्रोल के दाम बढ़ते जा रहे हैं.
दाम कम करने में असफल साबित हुई मोदी सरकार
मोदी सरकार 26 मई 2014 को केंद्र की सत्ता में आई थी. उस समय दिल्ली में पेट्रोल करीब 71.41 रुपए और डीजल 56.71 रुपए में मिलता था. ऐसे में कांग्रेस पर महंगाई का आरोप लगाकर और देश से महंगाई कम करने का वादा करके सत्ता में आई मोदी सरकार भी पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने में असफल साबित हुई है.