No icon

आज GST काउंसिल की बैठक

आज GST काउंसिल की बैठक, पेट्रोल समेत इन 5 चीजों पर रहेगी नजर

पेट्रोल और डीजल की आसमान पर पहुंची कीमतों के बीच आज जीएसटी परिषद की बैठक होनी है. वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में कई अहम मोर्चों पर चर्चा होना तय है. इसमें रिटर्न भरना आसान करने के साथ पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के तहत लाने पर चर्चा होने की उम्मीद है. जीएसटी परिषद की इस बैठक में तीन अहम चीजों पर कोई फैसला आज आ सकता है.

पेट्रोल-डीजल जीएसटी के तहत

जीएसटी परिषद की 27वीं बैठक में पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के तहत लाने पर चर्चा होना तय माना जा रहा है. हालांकि इन्हें जीएसटी के तहत लाने पर आम सहमति बन पाना थोड़ा मुश्क‍िल है. वित्त मंत्री अरुण जेटली और तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पहले ही इस मांग को उठा चुके हैं, लेकिन राज्यों के बीच फिलहाल सहमति नहीं बन पा रही है. ऐसे में देखना होगा कि आज की बैठक में इस मोर्चे पर कोई फैसला आता है या नहीं.

जीएसटीएन बनेगी सरकारी कंपनी:

इस बैठक में जीएसटीएन को सरकारी कंपनी बनाने पर भी विचार किया जा सकता है. बता दें कि फिलहाल जीएसटी रिटर्न से जुड़ी हर व्यवस्था को जीएसटीएन नेटवर्क  देखता है.

सिंगल रिटर्न की व्यवस्था

आज की बैठक में मौजूदा समय में रिटर्न भरने के लिए कई फॉर्म की जगह पर एक सिंगल रिटर्न फॉर्म लाया जा सकता है. इससे न सिर्फ कारोबारियों को रिटर्न भरने में आसानी होगी, बल्कि यह निर्यातकों को रिटर्न भरने में आ रही दिक्कतों को दूर करने में भी मदद करेगा.

ई-वे बिल को बनाया सकता है बेहतर:

ई-वे बिल को लागू किए हुए एक महीना हो गया है. इस बैठक में ई-वे बिल के लागू होने के बाद हो रही परेशानियों और सुविधाओं को लेकर चर्चा हो सकती है. इस बैठक में ई-वे बिल पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन को रेगुलर और ट्रांसपोर्टर दोनों के तौर पर रजिस्ट्रेशन की सुविधा मिल सकती है.

कैशलेस लेन देन वालों को मिल सकता है तोहफा

इस बैठक में परिषद उन लोगों को खरीदारी पर डिस्काउंट दे सकती है, जो डिजिटल भुगतान करेंगे. इस बैठ‍क में कैशलेस लेन देन पर  जीएसटी रेट में दो फीसदी की छूट दी जा सकती है. हालां‍क‍ि इस छूट की अध‍िकतम सीमा 100 रुपये रह सकती है. यह फायदा बिजनेस टू कंज्यूमर लेन-देन में मिल सकता है.

Comment